Entertainment News

गरीब किसान का बेटा 19 साल की उम्र में बना भारतीय सेना में अफसर, आपको भी इस किसान के बेटे पर होगा गर्व

TNN News,

भारत में किसान सभी को अधिक महत्वपूर्ण अस्वीकार करना जाओ है इसलिये भारत में अधिकांश गाँव rajnagar में पीपुल्स का आय खेती से केवल था है. केवल यही कारण है उस देश का हर एक एक आदमी किसानों का पर्याप्त अधिक प्रतिष्ठा करता है है. भारत का हर एक एक किसान पर्याप्त अधिक महत्वपूर्ण है. वर्तमान समय में भारत का राजस्थान Rajasthan राज्य का रहना होने वाला एक किसान मीडिया में पर्याप्त अधिक मुख्य बातें में बनाया गया हो गई है ऐशे ही इसलिए इसलिये अभी-अभी कुछ समय इससे पहले केवल एक चीज़ सामने मैं है उस राजस्थान Rajasthan का गरीब किसान का बेटा कठोर परिश्रम और कठोर परिश्रम ऐसा करके भारतीय सेना में एक बहुत बड़ा अफ़सर बनना चला गया है. इस का कारण से वर्तमान समय में हर एक स्थान इस किसान का बेटों का चर्चाएँ है. आप को बताना देना उस इस गरीब किसान का बेटा सिर्फ़ 19 साल का आयु में भारतीय सेना में अफ़सर बनना चला गया है और उसे हमारी भारत का राष्ट्रपति है सोनाका सोना पदक बहुत दिया है. आगे आप को लेख में भारत का इस किसान का बेटों प्रति ले रहा सामने मैं इस बड़ा समाचार का के बारे में में विस्तार से कह है.

भारत का किसान का बेटा बनना चला गया सेना में बड़ा अफ़सर, सिर्फ़ 19 साल में करना इस करतब

हमारी भारत एक ऐशे ही देश है वह उस पर्याप्त तेज़ से पदोन्नति करना रुके है. आप को बताना देना उस अभी-अभी कुछ समय इससे पहले केवल एक बड़ा समाचार सामने मैं है वह उस इस है उस भारत का राजस्थान Rajasthan में रहना लोग एक किसान का बेटा भारतीय सेना में बड़ा अफ़सर बनना चला गया है. इस किसान का बेटों का नाम गर्व यादव है जो कोई भी सिर्फ़ 19 साल का आयु में भारतीय सेना में एक बहुत बड़ा पद हासिल करना ले लिया है. आप को बताना देना उस गर्व है वह पद हासिल किया है उसकी नाम एन डी ए (एन डी ए) अर्थात का राष्ट्र रक्षा अकादमी है. गर्व यादव नाम का इस किसान का बेटों का इस सफ़र पर्याप्त कठिन रुके है इसलिये सिर्फ़ 19 साल का आयु में इस पद प्रति हासिल करते हुए एक बहुत बड़ा चीज़ है. केवल यही कारण है उस वर्तमान समय में हर एक स्थान उनका केवल चर्चाएँ है. इतना केवल नहीं बल्कि हमारी भारत देश का राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू हाँहै गर्व प्रति सोना पदक बहुत दिया है अर्थात उस सोना पदक से सम्मानित बहुत किया है. केवल यही कारण है उस वर्तमान समय में हर एक स्थान उनका केवल चर्चाएँ है. आगे आप को लेख में कह है उस गर्व है ऐशे ही क्या विशेष काम किया है इस 19 साल का आयु में उस उन्हें सोना पदक दिया है और साथ केवल इस बहुत कह है उस क्या प्रकार किसान का बेटों गर्व है सिर्फ़ 19 साल का आयु में इस कठिन परीक्षण प्रति पास ऐसा करके भारतीय सेना में अफ़सर बनना है.

गर्व है करना दिया सिर्फ़ 19 साल का आयु में अफ़सर बना हुआ पिता का नाम रोशन, मिल गया पदक बहुत इस कारण से

गर्व यादव नाम का एक लड़का इस समय बहस में बनाया गया हो गई है वह उस राजस्थान Rajasthan का एक किसान का बेटा है जो कोई भी सिर्फ़ 19 साल काआयु में सेना में अफ़सर का पद हासिल किया है. आप को बताना देना उस 12वी कक्षा प्रति पास करने के लिए का उसके बाद एक परीक्षण था है किसकानाम एन डी ए चाहेंगे है. इस परीक्षण प्रति पास करने के लिए का उसके बाद एक 5 दिन का कठिन साक्षात्कार चाहेंगे है और उसके उसके बाद 3 साल का प्रशिक्षण था है. इन सब कठिनाइयों का चेहरा ऐसा करके गर्व आज सेना में अफ़सर बनना चला गया है. गर्व है हमारी बैच में प्रशिक्षण में सभी को अच्छा प्रदर्शन कियाहै और इस का कारण से गर्व प्रति हमारी राष्ट्रपति है सोना पदक से सम्मानित किया है.

#गरब #कसन #क #बट #सल #क #उमर #म #बन #भरतय #सन #म #अफसर #आपक #भ #इस #कसन #क #बट #पर #हग #गरव

News Source

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button