Entertainment News

गुजरात के इस बिजनेसमैन ने निभाया पिता होने का फर्ज, अपनी इकलौती 2 महीने की बेटी के लिए खरीदी चांद पर जमीन

TNN News,

भारत बहुत तेज़ से पदोन्नति करना रुके है इस चीज़ इसलिए आप सब लोग जानना केवल हैं. हमारी भारत देश का चर्चाएँ आज का समय में पूरा दुनिया भर ग्या में है. केवल यही कारण है उस भारत का नाम का लोहा पूरा दुनिया मनाती है. वर्तमान समय में भारत का गुजरात राज्य का रहना लोग प्रसिद्ध सोदागर है एक ऐशे ही काम करना दिया है किसका उसके बाद से देश का हर एक एक आदमी उनका प्रशंसा करना रुके है और ऊन पंख गर्व करना रुके है. गुजरात का उस सोदागर का हम चीज़ करना हैं है चेहरा का रहना होने वाला है जो कोई भी हमारी पिता रखना का पूरा पसंद करना कर्तव्य किया गया है. आप को बताना देना उस चेहरा का रहना लोग इस सोदागर है अपना बेटी का जन्म का उसके बाद उसे एक ऐशे ही उपहार दिया है किसको शायद केवल कोई है दिया क्या होगा ऐशे ही इसलिए इसलिये गुजरात का इस सोदागर है हमारी सिर्फ़ 2 महीना का बेटी का के लिये चांद पंख मकान खरीद फरोख्त ले लिया है. इस का कारणसे वर्तमान समय में हर एक स्थान उनका केवल बाते हैं करते हुए है. आगे आप को लेख में चेहरा का इस सोदागर का के बारे में में कह है उस वह कौन? है और कैसे वे चांद का के ऊपर मकान खरीद फरोख्त ले लिया है.

चेहरा का इस सोदागर है खरीद लिया चांद पंख मंज़िल, दिया बेटी प्रति पैदा होना था केवल विशेष उपहार

स्पोक जाओ है उस दुनिया में सभी को कठिन कोई रिश्ता जारी रखो चाहेंगे है इसलिए वह चाहेंगे है एक पिता का रिश्ता किसको जारी रखो हर एक कोई का पर्याप्त का चीज़ नहीं है. इस तरफ केवल एक पिता का कर्तव्य गुजरात का चेहरा का रहना लोग एक आदमी है किया गया है जो कोई भी अपना बेटी का पैदा होना था केवल उसे एक बहुत केवल अमूल्य उपहार दिया है. हाँ हाँ चेहरा का रहना लोग इस सोदागर है पर्याप्त अमूल्य उपहार दिया है वह उस इस है उस इस सोदागर है अपना बेटी का नाम से चांद पंख मंज़िल खरीद फरोख्त ले लिया है. चेहरा का रहना लोग इस सोदागर का के बारे में में कहा इसलिए इसका नाम विजय कठेरिया है वह उस अभी-अभी कुछ समय इससे पहले केवल पिता बनना है. विजय हाँ है अपना बेटी का जन्म का 2 महीना उसके बाद केवल उसके के लिये चांद पंख मंज़िल खरीद फरोख्त ले लिया है और मंज़िल बहुत अपना बेटी का नाम पंख केवल खरीद लिया है. विजय हाँ का बेटी का नाम नित्य विजय भाई है और इस नाम से विजय है चांद पंख मंज़िल खरीद लिया है. आगे आप को लेख में कह है उस आख़िरकार क्या प्रकार और कितने रुपये देकर विजय है चांद पंख मंज़िल खरीद लिया है.

विजय है खरीद लिया इस प्रकार चांद पंख मंज़िल, करना था इस काम

विजय वह उस चेहरा का रहना लोग है वे अभी-अभी कुछ दिन इससे पहले केवल चांद लड़की मंज़िल खरीद लिया है और वे मंज़िल बहुत अपना बेटी नित्य का नाम पंख हैं खरीद लिया है. विजय है इससे पहले न्यूयॉर्क अंतरराष्ट्रीय चांद्र भूमि नाम का कंपनी प्रति चांद पंख मंज़िल खरीदने के लिए का के लिये मिलान किया. विजय का इस मील की दूरी पर इस कंपनी है मेरे ले लिया और विजय प्रति चांद पंख एक मंज़िल का टुकड़ा देना दिया है. आप को बताना देना उस विजय है इस मंज़िल अपना बेटी नित्य का नाम पंख खरीद लिया है और उसे एक विभिन्न पसंद करना का उपहार दिया है.

#गजरत #क #इस #बजनसमन #न #नभय #पत #हन #क #फरज #अपन #इकलत #महन #क #बट #क #लए #खरद #चद #पर #जमन

News Source

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button